पढ़ो परदेश योजना के बारे में पूरी जानकारी | Padho Pardesh Yojana 2022

पढ़ो परदेश योजना: Padho Pardesh Yojana हम सभी जानते हैं कि आज के समय में उच्च शिक्षा प्राप्त करना कितना कठिन हो गया है। क्योंकि उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए बड़े कॉलेजों की फीस भी बहुत अधिक होती है। जिससे छात्र नहीं भर पा रहे हैं। देश के कई छात्र विदेश में पढ़ने के इच्छुक हैं लेकिन आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वे विदेश जाकर पढ़ाई नहीं कर पाते हैं। जिससे वे विदेश में शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते और उनका सपना अधूरा रह जाता है।

उन सभी छात्रों के लिए जो विदेश में पढ़ना चाहते हैं। उन सभी छात्रों के लिए केंद्र सरकार द्वारा एक योजना तैयार की गई है। विदेशी स्कीम का नाम पढ़ेंI. इस योजना के तहत गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को विदेश में पढ़ने के लिए केंद्र सरकार द्वारा ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। अगर आप भी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं। तो आपको इस लेख को ध्यान से पढ़ना होगा क्योंकि हम आपको इस लेख के माध्यम से पढ़ो परदेश योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे।

Padho Pardesh Yojana 2022 | padho pardesh scheme in hindi

वर्ष 2013-14 में पढ़ो परदेश योजना की शुरुआत तत्कालीन कैबिनेट मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने की थी। इस योजना के तहत, सरकार उन सभी छात्रों को ब्याज मुक्त ऋण देगी जो विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं। लेकिन उनके पास उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने के पैसे नहीं हैं। देश के उन सभी अल्पसंख्यक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा सभी छात्रों को सरकार द्वारा ऋण पर सब्सिडी भी दी जाएगी। लघु कार्य मंत्रालय के माध्यम से Padho Pardesh Yojana संचालित की जा रही है। इस योजना के माध्यम से अल्पसंख्यक वर्ग के अंतर्गत आने वाले गरीब छात्र जो विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का सपना देखते हैं उनका सपना पूरा होगा। यह योजना हर धर्म और जाति के लोगों के लिए विकसित की गई है।

Padho Pardesh Scheme का उद्देश्य
| Objectives of Padho Pardesh Scheme

केंद्र सरकार द्वारा पढो परदेश योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस योजना के तहत छात्रों को विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा ऋण प्रदान किया जाएगा और ऋण पर सब्सिडी भी दी जाएगी।

इस योजना के तहत सरकार द्वारा छात्रों को 20 लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। ताकि वे विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त कर अपना भविष्य उज्जवल बना सकें। और हम विदेश में पढ़ने का सपना पूरा कर सकेंगे।

पढ़ो परदेश योजना की विशेषताएं

  • पढ़ो परदेश योजना उन छात्रों के लिए शुरू की गई है जो विदेश जाकर उच्च शिक्षा प्राप्त करने का सपना देख रहे हैं।
  • इस योजना के माध्यम से देश के सभी पात्र छात्रों को विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए ऋण प्रदान किया जाएगा।
  • पढ़ो परदेश योजना भारत सरकार के लघु मामलों के मंत्रालय के तहत शुरू की गई थी।
  • इस योजना के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर छात्र आसानी से ऋण लेकर पढ़ो परदेश योजना के तहत आवेदन कर विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे।
  • पढ़ो परदेश योजना के तहत सभी पात्र छात्रों को दिए जाने वाले ऋण पर सरकार द्वारा अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। और इस योजना की खास बात यह है कि पात्र छात्रों को ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जाएगा और इस ऋण से छात्र विदेश में अपनी शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे।
  • तब तक पढ़ो परदेस योजना के तहत लिए गए इस कर्ज को चुकाने की जरूरत नहीं होगी। जब तक वह अपनी शिक्षा पूरी नहीं कर लेता।
  • छात्र को कर्ज चुकाने के लिए पर्याप्त समय दिया जाएगा।

पढ़ो परदेश योजना के तहत ऋण प्राप्त करने के लिए मान्यता प्राप्त बैंक

  • भारतीय बैंक एसोसिएशन (IBA)
  • कॉपरेटिव बैंक (Co-operative Bank)
  • प्राइवेट बैंक (Private Bank)
  • पब्लिक सेक्टर बैंक (Public Sector Bank) आदि जो भी भारतीय बैंक एसोसिएशन से जुड़े हो।

पढ़ो परदेश योजना के तहत ऋण के नियम

  • पढ़ो परदेश योजना के तहत, ऐसे सभी पात्र छात्र जो विदेश में अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, इस योजना के तहत केवल बैंकों के माध्यम से 20 लाख रुपये तक का ऋण ले सकते हैं।
  • पात्र लाभार्थियों को पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद 1 वर्ष और 6 महीने की समयावधि में ऋण चुकाने की अनुमति दी जाएगी।
  • छात्रों को दी गई इस अवधि के बाद बैंक ऋण चुकाना अनिवार्य होगा।
  • इस योजना के तहत डिग्री लेने से पहले कोई पहली किस्त या कोई ब्याज नहीं देना होगा।

पढ़ो परदेश योजना के लाभ

  • पढ़ो परदेश योजना के तहत छात्र कई प्रकार के लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना के तहत छात्र को उच्च शिक्षा के लिए बिना ब्याज के सरकार द्वारा ऋण प्रदान किया जाएगा।
  • पढ़ो परदेश योजना के तहत कोई भी अल्पसंख्यक आवेदक विद्यार्थी बैंक से 20 लाख तक का ऋण ले सकता है।
  • यदि छात्र की आधी शिक्षा देश में और शेष विदेश में पूरी हो जाती है तो ऐसी स्थिति में ऋण राशि पर कोई ब्याज नहीं लगाया जाएगा।
  • इस सहायता राशि पर छात्र को सरकार द्वारा शत-प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।
  • पढ़ो परदेश योजना के माध्यम से ऋण प्राप्त कर विद्यार्थी अपना भविष्य उज्जवल बना सकेंगे।

पढ़ो परदेश योजना के लिए योग्यता और पात्रता | padho pardesh scheme eligibility

  • Padho Pardesh Yojana का लाभ केवल भारतीय छात्रों को ही मिलेगा।
  • अल्पसंख्यक वर्ग के अंतर्गत आने वाले गरीब एवं जरूरतमंद छात्रों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत छात्रों को मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान से शिक्षा प्राप्त करने के लिए ही ऋण मिलेगा।
  • यदि आवेदक इस योजना के अंतर्गत विदेश से शिक्षा प्राप्त कर रहा है तो संस्था का मान्यता प्राप्त होना आवश्यक है।
  • आवेदक इस योजना के तहत किसी भी उच्च शिक्षा अर्थात फिल, पीएचडी, एमबीए, पीजी डिप्लोमा का छात्र होना चाहिए।
  • छात्र के परिवार की वार्षिक आय 6 लाख या उससे कम होनी चाहिए।
  • इस योजना के तहत सभी जाति धर्म या लिंग के छात्र आवेदन कर सकते हैं।
  • इस योजना के तहत कर्ज लेने का लाभ केंद्र सरकार द्वारा नामित बैंकों को ही मिलेगा।
  • देश के अल्पसंख्यक छात्र केवल 20 लाख रुपये तक की ऋण सब्सिडी का लाभ उठा सकेंगे।

पढो परदेश योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • लोन एप्लीकेशन फॉर्म
  • आय प्रमाण पत्र
  • अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र
  • एडमिशन और कोर्स से संबंधित पेपर्स
  • बैंक खाते का विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पढ़ो परदेश योजना के तहत आवेदन कैसे करें | padho pardesh scheme how to apply

  • सबसे पहले आपको किसी भी सरकारी बैंक में जाकर Padho Pardesh Yojana का आवेदन पत्र जिस विदेशी कॉलेज में आप पढाई के लिए जाना चाहते है उसका आवंटन पत्र लेकर प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियों को सावधानीपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद फिर से आपको आवेदन पत्र के साथ पूछे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • अब आपको यह आवेदन पत्र बैंक में ही जमा करना होगा।
  • आपका फॉर्म बैंक द्वारा कल्याण मंत्रालय को भेजा जाएगा।
  • जहां आपकी पात्रता तय की जाएगी कि आप इस योजना के पात्र हैं या नहीं।
  • इसके बाद आपको इस योजना के तहत लोन प्रदान किया जाएगा।

इसे भी ज़रूर पढ़े –

padho-pardesh-yojana

Hello Everyone, I'm JobHouse From JobHouse.org Website. JobHouse Team Provide Complete information about Government Schemes.

Leave a Comment

close
Share via
Copy link
Powered by Social Snap